जोधपुर ट्रिपल मर्डर: पड़ोसी ही निकला हत्यारा, पुलिस ने बताया- महिला और बच्चियों को क्यों मारा?

0
13

जोधपुर ट्रिपल मर्डर: पड़ोसी ही निकला हत्यारा, पुलिस ने बताया- महिला और बच्चियों को क्यों मारा?

गौरव रक्षक/राजेंद्र शर्मा

5 जुलाई , जोधपुर ।

राजस्थान के जोधपुर में तीन जुलाई को एक ही घर में खूनी खेल खेला गया था. नानी और दो नातियों की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही इस हत्याकांड का खुलासा कर दिया और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी कोई और नहीं बल्कि पड़ोसी ही निकला, जो लूट के इरादे से घर में गया था.

जोधपुर में दिनदहाड़े हुए ट्रिपल मर्डर की गुत्थी 24 घंटे में ही सुलझ गई. पुलिस ने खुलासा करते हुए पड़ोस में ही रहने वाले एक आरोपी दिनेश जाट को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस के अनुसार, दिनेश जाट लूट के इरादे से घर में घुसा था और उसने ही हत्या की वारदात को अंजाम दिया. बीते बुधवार को पुखराज कुड़िया नाम के व्यक्ति के घर ये वारदात हुई थी. वारदात के समय वह घर पर मौजूद नहीं था. पुखराज सुबह ही मजदूरी के लिए निकल जाता है और शाम को लौटता है. पुखराज की पत्नी गोमा देवी भी अपनी जेठानी के साथ में अस्पताल गई थी. साथ में उसका बेटा भी था. घर पर पुखराज की मां भंवरी देवी, उसकी बहन संतोष और उसकी दो बेटियां थीं. जब गोमा देवी घर लौटी तो घटना की जानकारी मिली और उसने अपने पति पुखराज को सूचना दी.

पूरे वारदात की बात करें तो बीते बुधवार तीन जून को जोधपुर के बनाड़ थाना क्षेत्र के नादड़ा खुर्द गांव में पुखराज कुड़िया के घर में हत्या की सूचना पुलिस को मिली थी. पुलिस मौके पर पहुंची तो देखा कि दो महिलाएं भंवरी देवी और संतोष गंभीर रूप से घायल अवस्था में फर्श पर पड़ी थीं और चारों ओर खून बिखरा पड़ा था. संतोष के सिर में कुल्हाड़ी फंसी हुई थी. अस्पताल में डॉक्टरों ने भंवरी देवी को मृत घोषित कर दिया था, जबकि, संतोष को भर्ती कर इलाज शुरू किया.

जब संतोष के दोनों बेटियां नहीं मिलीं तो उनकी तलाश की गई. घर के बाहर बने पानी के टांके में दोनों की लाश मिली. संतोष की एक बच्ची की लाश पानी में डूबी हुई थी, जबकि एक की लाश ऊपर तैर रही थी. पुलिस ने मौके पर FSL टीम बुलाकर साक्ष्य जुटाए. जांच के लिए डॉग स्क्वायड सहित करीब एक दर्जन से ज्यादा टीमों को लगाया और 24 घंटे के अंदर ही हत्या का खुलासा कर दिया.

लूट के इरादे से वारदात को दिया अंजाम
पुलिस के अनुसार, शराब और जुए के आदी आरोपी दिनेश जाट को घर में सिर्फ महिलाओं के होने की जानकारी थी. वारदात से ठीक पहले दिनेश ने शराब पी और मौका पाते ही घर के अंदर घुस गया. अंदर घुसते ही उसका सामना भंवरी देवी से हुआ. दिनेश ने कुल्हाड़ी से वार करते हुए भंवरी देवी को जमीन पर गिरा दिया, जिससे भंवरी की मौके पर ही मौत हो गई. यह देख भंवरी देवी की दो नातिन चिल्लाकर रोने लगीं. इस पर दिनेश दोनों को उठाकर घर के बाहर बने पानी के टांके में फेंक दिया और उसका ढक्कन बंद कर दिया.

इसके बाद दिनेश घर में लूटपाट करने लगा. दिनेश ने देखा कि घर के अंदर वाले कमरे में भंवरी देवी की बेटी संतोष सो रही है. दिनेश ने संतोष के सिर पर कुल्हाड़ी से वार कर दिया. वार इतना तेज था कि कुल्हाड़ी उसके सिर में ही फंसी रह गई. जब लूट के लिए उसने कमरे में पड़े बक्से को खोला तो उम्मीद से विपरीत उसे कुछ नहीं मिला. इसके बाद वह घर से निकल गया.

हत्या करने के बाद वापस आया और भीड़ में खड़ा हो गया
आरोपी दिनेश जिस रास्ते से घर में घुसा था, उससे अलग रास्ता चुना और अपने घर चला गया. थोड़ी देर बाद इस घटना की सूचना आग की तरह फैल गई. घर के दूसरे सदस्य, पुलिस और ग्रामीण वारदात स्थल पर इकट्ठे हो चुके थे तो दिनेश भी कपड़े बदलकर वहां वापस पहुंच गया और ग्रामीणों की भीड़ में शामिल हो गया. थोड़ी देर वहां खड़े रहने के बाद में वह वापस लौट गया.

डीसीपी आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि तकनीकी टीम की सहायता लेते हुए मोबाइल लोकेशन की जांच की गई. मोबाइल लोकेशन के आधार पर संदिग्धों पर नजर रखी गई. क्राइम सीन पर मिले साक्ष्यों के आधार पर पुष्टि कर आरोपी दिनेश जाट को गिरफ्तार किया गया.

घायल महिला की जान खतरे से बाहर
पुखराज की बहन संतोष के सिर में आरोपी ने कुल्हाड़ी मारी थी और गंभीर हालत में ही उसे कुल्हाड़ी के साथ ही अस्पताल पहुंचाया गया था. अब उसके सर से कुल्हाड़ी निकाल दी गई है और ऑपरेशन सफल रहा है. घटना के 24 घंटे बाद अब संतोष खतरे से बाहर बताई जा रही है. ऐसा माना जा रहा है कि वह जल्द रिकवरी कर स्वस्थ हो पाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here